HINDUISM AND SANATAN DHARMA

Cosmos ,Sanatan Dharma.Ancient Hinduism science.

ॐ, ohm , om

हर धर्म-पंथ-सम्प्रदाय मे ईश्वर का वास्तविक नाम ॐ है:-
1) ॐ ख़म ब्रह्म -अर्थात ॐ ही सर्वत्र व्याप्त परम ब्रह्म है:- यजुर्वेद 40/17

2) सिख पंथ :- एक ‘ओंकार’, सतनाम ..! अर्थात एक मात्र ॐ स्वरुप परमात्मा है; उसका नाम ही सत्य है।

3) बौद्ध पंथ :- इसे “ओं मणिपद्मे हूं” कह कर प्रयोग करते हैं, जिसे आप स्वयं धर्मगुरु दलाई लामा से समझिये, देखें वीडियो :
4) जैन पंथ में भी इस शब्द ॐ का महत्व है, वीडियो देखिये :


5) “तस्य वाचक प्रणवः ” :- उस ईश्वर नामक चेतन तत्व विशेष के अस्तित्व का बोध करने वाला शब्द ध्वन्यात्मक ॐ है :- महर्षि पतंजलि समाधिपाद 27 वें सूत्र ।

इसी तरह भारत के अनेक संत महात्माओं ने भी ॐ के ध्वन्यात्मक स्वरुप (Sound vibrations) को ही ब्रह्म माना है तथा ॐ को” शब्द ब्रह्म” भी कहा है ।

6) अब्राह्मिक पंथ (यहूदी-ईसाई और इस्लाम) में हिन्दुस्तानी धर्म-सम्प्रदाय की तरह दर्शन-अध्यात्म-वेदांतज्ञान का अभाव है ! फिर भी उदाहरण के लिए अगर हिन्दू अपने सब मन्त्रों और भजनों में ॐ को शामिल करते हैं तो ईसाई और यहूदी भी इसके जैसे ही एक शब्द “आमेन” का प्रयोग धार्मिक सहमति दिखाने के लिए करते हैं । मुस्लिम इसको “आमीन” कह कर याद करते हैं ।

अंग्रेजी का शब्द “omni”, जिसके अर्थ अनंत और कभी ख़त्म न होने वाले तत्त्वों पर लगाए जाते हैं (जैसे omnipresent, omnipotent), भी वास्तव में इस ॐ शब्द से ही बना है ।

7) NASA ने सूर्य की जो ध्वनि रिकॉर्ड किया है, वह भी ॐ ही है, जिसे खुद ‪NASA‬ ने ‘शब्द ब्रह्म’ प्रमाणित किया । देखें वीडियो

————————————————————————–

यह तो हुए ॐ शब्द के धार्मिक पहलू अब आपको बताएं की ॐ का उच्चारण करने से जो आनंद और शान्ति अनुभव होती है, वैसी शान्ति किसी और शब्द के उच्चारण से नहीं आती । यही कारण है कि सब जगह बहुत लोकप्रिय होने वाली योग-प्राणायाम की कक्षाओं में ओ३म के उच्चारण का बहुत महत्त्व है । अपनी आँखें बंद कर 10 बार ॐ का उच्चारण करके देखिये, खुद समझ जायेंगे ।

ॐ किसी ना किसी रूप में सभी मुख्य संस्कृतियों का प्रमुख भाग है । इतने से यह सिद्ध है कि ॐ किसी मत, मजहब या सम्प्रदाय से न होकर पूरी इंसानियत का है । Aum‬ के अन्दर ऐसी कोई बात नहीं है कि किसी के भगवान्/Jesus/अल्लाह का अनादर हो जाये ।

फिर आज से हम सब प्राण लें की — अपने हर काम की शुरुआत इस पवित्र शब्द ॐ के उच्चारण के साथ करेंगे !

Dr. Alam ॐ ॐ ॐ ॐ

One comment on “ॐ, ohm , om

  1. Reblogged this on Voice of world.

    Like

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s

Information

This entry was posted on April 11, 2016 by in HINDUISM SCIENCE, OM, science of om and tagged , , , .

Follow me on Twitter

%d bloggers like this: